Monday, January 24, 2011

लास वेगस

लास वेगस

देखा हमने ऐसा एक शहर
यह शहर नहीं एक मेला है
इंसान तो है ही सही, पूरा शहर ही यह वेला है
जुआं यहाँ का खेला है,
ओ रे लास वेगस, तू अपने आप में एक अकेला है

होटल बने हैं झाकियों के पीछे
न्यू योर्क, अल्लादीन, आइफ्फेल टॉवर,
ग्रीक महल, सहारा डेसर्ट, विक्टोरियन कास्टल
भिन्न भिन्न तरह के डिजाईन
मानो के पूरी दुनिया मिलती हैं इस शहर में

खेलो तो जी जान से
जीतो तो मान से
हारो तो शान से
अरे हारने में शान कैसी जब खेल हो जुआं ?
शान तो है बस शहर की ,
हर कोई है हारा यहाँ पे |

No comments:

Book Review - The Guide by R.K. Narayan

The bliss of having read a book before watching its movie version. The Guide movie is a cult classic, ranked #4 in best Hindi movies of all...